बीडीसी सदस्य एवं दूध व्यवसायी को बेखौफ बदमाशों द्वारा घर लौटते वक्त मारी गयी गोली, हुई मौत

जौनपुर - केराकत कोतवाली थाना क्षेत्र के भैरोभानपुर ग्राम सभा मुरलीपुर गांव के बीडीसी एवं दूध व्यवसायी शैलेन्द्र यादव उर्फ शैलू 42 वर्षीय को घर लौटते वक्त अज्ञात बेखौफ बदमाशों ने मनियरा मोड़ के समीप अपनी गोलियों का निशाना बना मौत की नींद सुला दिया।



बदमाशों द्वारा शैलेन्द्र यादव को तीन गोली मारी गयी गोलियों का शिकार हो गंभीर अवस्था में उसे जिला चिकित्सालय लाया गया जहां उसकी मृत्यु हो गई।


शैलेन्द्र यादव की स्टेशन रोड पर अपनी डेयरी की प्रतिष्ठान है, देर शाम अपनी प्रतिष्ठान बन्द कर वे अपनी मोटर साइकिल से बल्टा ले घर को जा रहे थे, जैसे ही मनियरा मोड़ के समीप पहुंचे कि पहले से घात लगाए बदमाशों ने उन्हें रोक लिया और ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर अंधेरे का फायदा उठा हुए फरार।


प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक उसे तीन गोलियां मारी गई। गोली लगते ही शैलेन्द्र गिर पड़े, शैलेन्द्र के गिरते ही बदमाश मौके पर हुए फरार। 


शैलेन्द्र को गोली मारने वाले बदमाश मोटरसाइकिल से सवार होकर आए थे, बिजली न होने के कारण तिराहे पर बहुत अंधेरा था,जिसका बेख़ौफ बदमाशों ने फायदा उठा अपने कार्य को अंजाम दे शैलेन्द्र को अपनी गोलियों का शिकार बनाया।


चर्चा है कि शैलेन्द्र को गोली मारने वालों में दो बदमाश शामिल थे, घटना की सूचना मिलते ही मौके पर केराकत थाना प्रभारी विनय प्रकाश सिंह एवं क्षेत्राधिकारी सुशील कुमार सिंह मौक़े पर पहुंच गए।


शैलेन्द्र यादव पर गोलियों की बौछार करने वालों बदमाशों का कुछ अता पता नहीं चला कि शैलेन्द्र को अपनी गोलियों का शिकार बना अंधेरे का फायदा उठा कहाँ फरार हो गए।


घायल शैलेन्द्र यादव को केराकत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र ले जाया गया जहां उसे गंभीर अवस्था देख ज़िला चिकित्सालय के लिए रेफर किया, शैलेन्द्र यादव के चिकित्सालय पहुचने पर चिकित्सक ने शैलेन्द्र यादव को मृत घोषित कर दिया। 


भौरोभान पुर गांव के ग्राम प्रधान बाल गोविंद ने बताया कि शैलेन्द्र की मां इसराजी देवी पूर्व में ग्राम प्रधान रही हैं, जिनका पुत्र शैलेन्द्र बेहद सीधा व सरल स्वभाव के व्यक्ति थे उसकी किसी से कभी कोइ दुश्मनी नहीं थी, वे भी इस घटना को लेकर हतप्रभ हैं। उन्होंने बताया कि रोज वो रेलवे लाइन के रास्ते आते जाते थे, लेकिन दिनांक 05/10/2020 को न जाने क्यों वो मनियरा मोड़ के रास्ते से अपने घर को जा रहे थे,जिनके लिए पहले से घात लगाए बेखौफ बदमाशों ने गोलियों से भून कर उन्हें मौत की नींद सुला दिया। 


इस घटना से समस्त केराकत क्षेत्र में दहशत का माहौल व्याप्त है।