संजीत अपहरण कांड में हुआ ख़ुलासा ,संजीत की हुई हत्या ,एस पी साऊथ व सी ओ निलंबित

कानपुर अपहत संजीत यादव पुत्र चमन सिंह यादव निवासी 81 एलआईजी बर्रा 5 थाना बर्रा कानपुर नगर से सम्बन्धित अभियोग में विवेचना के क्रम में तथ्यों के आधार पर प्रमाणिक साक्ष्य एकत्र करते हए अपहत संजीत यादव के अपहरण एवं हत्या की घटना कारित करने वाले उसीके दोस्त ईश उर्फ ज्ञानेन्द्र यादव, कुलदीप गोस्वामी, नीलू सिंह, रामजी शुक्ला व निशादेही पर प्रीती शर्मा को मुखबिर की सूचना पर मयंक तिराहे पर अम्बेडकर नगर की तरफ से आते हुए समय 19.00 बजे घेर कर आवश्यक बल प्रयोग करते हए गिरफ्तार कर लिया गया।


पुलिस द्वारा इस अपराध का खुलासा किया गया -


पूछताछ में यह बात सामने आयी कि मास्टर माइण्ड अभियुक्त ईशू उर्फ ज्ञानेन्द्र यादव ने कुलदीप गोस्वामी, रामजी शुक्ला, नीलू सिंह के साथ मिलकर काफी दिन पहले यह प्लान बनाया कि किसी अमीर आदमी का मिलकर किडनैप करना है और ठीकठाक रूपया फिरौती में लेकर अपना अलग-2 व्यवसाय करना है। इस प्रकार घटना को वास्तविक रूप से अन्जाम देने के लिये प्लानिंग के तहत ब्रोकर रविन्द्र कुमार तिवारी पुत्र गनेश प्रसाद तिवारी । निवासी एमआईजी-64 बरी 6 थाना बर्रा 200 गज का मकान 15,000/- रूपये में दिनांक 15.06.2020 में किराये पर लिए थे और किराया एडवांस में मकान मालिक सुनील श्रीवास्तव को दे दिया था।



दिनांक 22.06.20 को कुलदीप गोस्वामी ने अपने मो0नं0 9506733627 से सन्दीप यादव के मोबाइल नम्बर 9616304071 पर 4 बार फोन किया अन्तिम काल 19.47 बजे की तो संजीत अपने धनवंतरी हास्पिटल नौवस्ता बाईपास से अपनी मो0सा0 नम्बर UP-78-DL-9368 से अकेले निकला और करीब 500 मीटर दूर नहरिया के पास खड़े कुलदीप, रामजी, ईश उर्फ ज्ञानेन्द्र व नील सिंह ने उसे ईशू का जन्मदिन है यह कहकर ईशू उर्फ ज्ञानेन्द्र यादव की फोर्ड फिगो कार नं0 UP 78 CF 6577में बैठा लिया नीलू ने संजीत की मोटर साइकिल ले ली रास्ते में एक बोतल शराब व बीयर ली और गाड़ी लेकर तात्याटोपेनगर आये वहां पर अण्डा व चिप्स लिया और गाडी में ही हम लोगो ने बैठकर पी रामजी ने वियर पी फिर वहां से हम लोग कमरे की तरफ धीरे-धीरे गए रास्ते में संजीत को पैग में चारो ने प्लानिंग के तहत वेहोशी की दवा मिला दी जिससे संजीत गाड़ी में ही बेहोश हो गया फिर कार सीधे जो कमरा हम लोग किराए पर लिये थे सीधे वही पहुँचे गाड़ी गेट के अन्दर खोले वहा पर सिम्मी सिंह और प्रीती भाभी पहले से मौजूद थी। संजीत को कमरे में अन्दर बन्द कर दिया और हम सभी लोग मिलकर बारी बारी से निगरानी करने लगे सिर्फ कुलदीपपैथ काइन्ड लैव आर्यनगर में रोज ड्यूटी पर जाता था डाक्टर एस के कटियार के पास सम्पल लेता था।


दिनांक 26.06.2020 को रात में संजीत ने भागने का प्रयास किया तो फिर 27 तारीख दिन शनिवार को सभी लोग कुलदीप गोस्वामी, ज्ञानेन्द्र यादव उर्फ ईश, रामजी शुक्ला, नील, सिम्मी सिंह इकट्ठा हुए और योजना बनाकर पकड़े जाने के डर से गले में रस्सी कसकर मार दिये। मारने के बाद प्लास्टिम की बोरी जिसमें भूषा आदि भरते है में शव को भरकर उसे ऊपर से बाँधकर पाण्डु नदी में छिपा कर डाल दियादिनांक 29.06.2020 को पहली बार फिरौती की काल अभिगण के द्वारा की गयी। अभियुक्तगण की निशादेही पर अपहत संजीत यादव की मो0सा0 नं0 UP 78 DL 9368 पैशन प्रो तात्या टोपे नगर तिराहे के पास झाडियों में छिपा कर रखी गयी थी व ईश उर्फ ज्ञानेन्द्र यादव के घर से घटना में प्रयुक्त फोर्ड फिगो गाड़ी बरामद कर ली गयी एवं अपहृत संजीत यादव के शव की तलाश गोताखोरों की मदद से की जा रही है।


नाम व पता गिरफ्तार शुदा अभियुक्तगणः


1. ईशू उर्फ ज्ञानेन्द्र यादव पुत्र श्री कृष्ण यादव नि. सिरसिया थाना मोहम्बदाबाद जनपद मऊ हालपता 65 ई/12 दवौली वेस्ट थाना गोविन्दनगर कानपुर नगर ।


2. कलदीप गोस्वामी पुत्र  प्रेम गोस्वामी नि. सरायमीता कच्ची बस्ती थाना पनकी कानपर नगर


3.रामजी शक्ला पुत्र योगेन्द्र शुक्ला नि0 अम्बेडकरनगर पानी की


4.नीलू सिंह पुत्र चन्द्रप्रकाश नि. गज्जापुरवा थाना सचेण्डी कानपुर नगर


5. प्रीत शर्मा पुत्री स्व0 परमजीत सिंह भाटिया नि0 109/318 कोशलपुरी गुमटी नं0 05 थाना नजीराबाद कानपुर नगर