अधिवक्ता संघ आक्रोशित होकर पुलिस के खिलाफ किया धरना-प्रदर्शन कोर्ट छोड़ उतरे सड़क पर

जौनपुर - थानाध्यक्ष व सीओ मय फोर्स अधिवक्ताओं को समझाने पहुंचे, लेकिन सभी अधिवक्ताओं ने पुलिस अधीक्षक को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे।पुलिस के उत्पीड़न से आक्रोशित दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता गुरुवार को सड़क पर उतर आये।



जौनपुर - थानाध्यक्ष व सीओ मय फोर्स अधिवक्ताओं को समझाने पहुंचे, लेकिन सभी अधिवक्ताओं ने पुलिस अधीक्षक को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे।पुलिस के उत्पीड़न से आक्रोशित दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता गुरुवार को सड़क पर उतर आये।पूरे दिन न्यायिक कार्य का किया बहिष्कार।अधिवक्ता अध्यक्ष बृजनाथ पाठक व प्रभारी मंत्री अरविद तिवारी के नेतृत्व में पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए करीब 11.15 बजे दीवानी कचहरी के पास आंबेडकर तिराहा पहुंचे और तिराहे पर ही धरना-प्रदर्शन व नारेबाजी शुरू कर दी। महिला अधिवक्ताओं ने भी आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। 


थानाध्यक्ष व सीओ मय फोर्स अधिवक्ताओं को समझाने पहुंचे, लेकिन सभी पुलिस अधीक्षक को मौके पर बुलाने की मांग पर अड़े रहे। इसे लेकर अधिवक्ताओं व पुलिस कर्मियों में नोकझोंक भी हुई।हालांकि बाद में पुलिस वापस लौट गई। एसपी के न आने पर अधिवक्ता करीब एक बजे आंबेडकर तिराहे पर ही धरने पर बैठ गए और पेशी में बंदियों की वैन वापस कर दिया। दोपहर बाद लगभग तीन बजे एसपी सिटी डा.अनिल कुमार पांडेय आंबेडकर तिराहे पहुंचे और एसपी से मुलाकात कराने का भरोसा दिलाया।


दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता शिवम सिंह को पट्टीदारों द्वारा प्रताड़ित करने और पुलिस द्वारा लाकअप में बंदकर मारने-पीटने एवं अधिवक्ता सुनील कुमार मिश्रा को जफराबाद पुलिस द्वारा अभद्रता व गाली गलौज से अधिवक्ता समुदाय आक्रोशित है। चौराहे पर चार घंटे जाम जैसी स्थिति रही।शुक्रवार को एसपी से मुलाकात न होने पर अधिवक्ताओं ने हाईवे जाम करने की चेतावनी दी है।