पुलिस ने वर्दी की रौब जमा कर, पत्रकार/सभासद का 151 में किया चालान

उत्तर प्रदेश पुलिस का एक पत्रकार के साथ ऐसा व्यवहार है तो आम जनता के साथ कैसा होगा।जौनपुर/मड़ियाहूं।स्थानीय नगर के सदर गंज यादव बस्ती के नगर पंचायत सभासद व एक दैनिक समाचार पत्र के पत्रकार के घर रात को 11 बजे पुलिस पहुंचती है।और दरवाजा पीटने लगती है और बाहर निकलने पर छोटे भाई को पूछती है।भाई के न रहने पर सभासद / पत्रकार को हिरासत में लेकर लॉकअप में बंद कर देती है।



जानकारी के अनुसार गंज यादव बस्ती में मंगलवार की रात पत्रकार / सभासद राहुल गुप्ता के छोटे भाई रोहित से पड़ोस के पवन मोदनवाल व उनके कुछ भाइयों से कुछ बातों को लेकर विवाद हो गया था।जिसकी शिकायत पर पुलिस रात 11:00 घर पर पहुंच कर दरवाजा पीटने लगती जिस पर पत्रकार/ सभासद राहुल मोदनवाल बाहर आते हैं और पुलिस को बताते हैं कि मेरा भाई घर पर नहीं जिस पर पुलिस अश्लील शब्दों का प्रयोग करते हुए घर में घुस जाती है और भाई को ढूंढने लगती है।भाई के न मिलने पर पत्रकार/ सभासद को जबरन घर से उठाकर कोतवाली लाती है और लॉकअप में बंद कर देती है।


सुबह जब घटना की जानकारी पत्रकारों व नगर पंचायत अध्यक्ष व सभासदों को मालूम हुआ तो सभी लोगों ने क्षेत्राधिकारी अवधेश शुक्ला उपजिलाधिकारी को कौशललेश मिश्र से पुलिसकर्मियों की शिकायत की गयी तो अधिकारियों द्वारा प्रभारीनिरीक्षक दिनेश कुमार पांडे को तलब कर जानकारी ली गई।जिस पर उन्हें  पत्रकार / सभासद को छोड़ दिया जाए अधिकारियों को कहने के बावजूद भी प्रभारीनिरीक्षक ने दफा 151 में चालान कर दिया।पुलिस की इस कार्रवाई से पत्रकारों व नगर पंचायत अध्यक्ष रुकसाना में कड़ी निंदा की है।