पोर्टल पर शिकायतों के निस्तारण लंबित पाए जाने पर एडीएम ने नाराजगी जताई,समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट में हुई सम्पन्न

उरई।


अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार सिंह की अध्यक्षता में जन सुनवाई पोर्टल एकीकृत शिकायत निवारण प्रणाली आई0जी0आर0एस0 पर लम्बित शिकायतों की समीक्षा हेतु एक बैठक का आयोजन कलैक्ट्रेट सभागार में किया गया। बैठक में ई0डी0एम0 पुष्पेन्द्र सिंह द्वारा आई0जी0आर0एस0 पोर्टल पर विभिन्न संदर्भो से प्राप्त शिकायतों के बारे में सभी उपस्थित अधिकारियों को अवगत कराया गया।


उन्होने बताया कि पोर्टल पर मुख्यमंत्री संदर्भ, ऑनलाइन प्राप्त संदर्भ, जिलाधिकारी संदर्भ, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संदर्भ, भारत सरकार/पी0जी0पोर्टल संदर्भ, तहसील दिवस संदर्भ, सी0एस0सी0/लोकवाणी संदर्भों से शिकायतें प्राप्त होती रहती है, जिसके तहत इन शिकायतों का पोर्टल पर प्रदर्शन समयावधि के उपरान्त लम्बित, समयावधि के अन्तर्गत लम्बित, उच्च स्तर पर आख्या प्रेषित, निस्तारित, अनमार्क, समस्त के रूप में होता हैं। सभी अधिकारी उपरोक्त सभी संदर्भो से प्राप्त शिकायतों का प्रतिदिन अपनी आईडी एवं पासवर्ड से लॉगइन कर उनका ससमय निस्तारण करें।



बैठक के दौरान कार्यालयाध्यक्षों को उनके पोर्टल पर लम्बित शिकायतों के बारे में अवगत कराया गया, जिसमें कई विभागों में विभिन्न संदर्भों के मामले लम्बित पाये गये, जिस पर अपर जिलाधिकारी ने नाराजगी जाहिर करते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे कल तक हर हाल में शिकायतों का निस्तारित करते हुये अवगत कराये जिन विभागों के शिकायते कल तक निस्तारित नही की गयी उनके खिलाफ  कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होने यह भी बताया कि आई0जी0आर0एस0 पोर्टल पर प्राप्त शिकायतों की समीक्षा शासन स्तर से की जाती है इसलिए इन शिकायतों का समय से निस्तारण अत्यन्त आवश्यक हैं।


अपर जिलाधिकारी ने कहा कि सभी कार्यालयाध्यक्ष तथा विभागाध्यक्ष गुणवत्तापूर्ण तरीके से हो और निस्तारण करने से पूर्व यदि सम्भव हो तो शिकायतकर्ता को अवश्य सुना जाये। उन्होने यह भी कहा कि शिकायतों के निस्तारण में किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदासीनता होने पर शासन स्तर से संबंधित अधिकारी के विरूद्व सीधे कार्यवाही हो जायेगी, जिसके लिए वह स्वयं जिम्मेदार होगे। बैठक में उपस्थित जिला विकास अधिकारी मिथलेश सचान, ई0डी0एम0 पुष्पेन्द्र सिंह सहित समस्त विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।