पी एम मोदी के लिए एयरस्पेस न खोलना महंगा पड़ सकता है पाकिस्तान को

पीएम मोदी, न्‍यूयॉर्क के लिए रवाना होंगे और यहां पर वह यूनाइटेड नेशंस जनरल एसेंबली (उंगा) के सत्र में हिस्‍सा लेंगे। भारत ने पाकिस्‍तान से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका जाने वाले फ्लाइट गुजरने के लिए एयरस्‍पेस खोलने के लिए औपचारिक अनुरोध किया है।



इंकार से पहले सोचना होगा पाकिस्तान को


भारत सरकार की ओर से पिछले हफ्ते पाकिस्‍तान से अनुरोध किया गया था। पाकिस्‍तान को 20 सितंबर से पहले इस पर फैसला लेकर भारत को जवाब देना होगा। अगर पाक पीएम मोदी की फ्लाइट को अपने एयरस्‍पेस से गुजरने की मंजूरी नहीं देता है तो फिर वह इंटरनेशनल सिविल एविएशन ऑर्गनाइजेशन चार्टर का उल्‍लंघन करेगा। पाकिस्‍तान ने इस चार्टर को साइन किया है।


इस चार्टर के नियम तहत जब तक कि युद्ध की स्थिति न हो या कोई आपातकालीन स्थिति न हो तब तक किसी भी तरह की पर्सनल फ्लाइट को मना नहीं किया जा सकता है। अगर पाक ने इनकार किया और भारत ने इसके खिलाफ अपील कर दी तो फिर इस्‍लामाबाद का भारी जुर्माना अदा करना पड़ सकता है।


अभी एक माह भी नहीं हुए हैं जब पाकिस्‍तान ने राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद की फ्लाइट के लिए एयरस्‍पेस खोलने से इनकार कर दिया था। राष्‍ट्रपति कोविंद तीन देशों आईसलैंड, स्विटजरलैंड और स्लोवानिया की यात्रा से लौट रहे थे।