भदरेखी गांव में बेखौफ गुलजार हो रहा जुआ का अड्डा

  • हर रोज लगते लाखों रुपयों के दांव

  • दूरस्थ स्थानों के जुआड़ियों का लगा रहता जमघट

  • आटा थाना पुलिस मामले से बनी अनजान


उरई (जालौन)। आटा थाना क्षेत्र के ग्राम भदरेखी में नून नदी के किनारे लंबे समय से एक ग्राम प्रधान के पुत्र की सरपरस्ती में जुआ का अड्डा संचालित हो रहा है। जहां पर हर रोज दूरदराज के जुआड़ी आकर लाखों रुपये के दांव लगाते देखे जा रहे है। तो गांव में नामी गिरामी जुआड़ियों के जमघट से ग्रामीण सहमे-सहमे नजर आ रहे है। ताज्जुब की बात तो यह है कि भदरेखी में गुलजार हो रहे जुआ के अड्डे से थाना पुलिस किन कारणों के चलते अनजान बनी हुयी है इस बात तो लेकर ग्रामीणों में चर्चायें चल रही है।



ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम भदरेखी में नून नदी के किनारे लंबे समय से नामी गिरामी जुआड़ियों की मौजूदगी में लाखों रुपयों का जुआ का अड्डा संचालित हो रहा है। जहां दूरस्थ स्थानों के जुआड़ी प्रातः से लेकर देर शाम तक अपने भाग्य का उदय करने में जुटे रहते हैं। बताया जाता है कि उक्त जुआ का अड्डा भदरेखी गांव के समीप दूसरे गांव के ग्राम प्रधान का पुत्र उक्त जुआ का अड्डा संचालित करवा रहा है। जो वहां पर आने वाले जुआड़ियों को हर प्रकार की सुविधायें मुहैया कराता और खाने-पीने का भी इंतजाम भी वही करता है। जुये का अड्डा संचालित होता रहे इसके लिये वह गांव के ही कुछ युवकों को गांव के बाहर विभिन्न स्थानों पर थोड़े बहुत रुपयों का लालच देकर प्रातः से ही बैठा देता है ताकि यदि आटा थाना पुलिस की जीप आये तो वही युवक अपने मोबाइल से उसे जानकारी देते रहे। लेकिन गांव में चैबीस घंटे नामी गिरामी जुआड़ियों की टोली गांव में भी विचरण करती रहती है जिससे ग्रामीण अनहोनी आशंका से ग्रस्त होकर अपने घरों में दुबकने को विवश देखे जा रहे हैं। इस मामले में आटा थाना पुलिस की चुप्पी भी प्रश्नचिन्ह खड़ा करती देखी जा रही है।


इस संबंध में नाम न छापने की शर्त पर बताया कि गांव में जुआड़ियों का अड्डा संचालित होने की सूचना आटा थाना पुलिस को कई बार मौखिक रूप से दी है लेकिन अभी तक थाना पुलिस ने जुआ का अड्डा संचालित कराने वाले ग्राम प्रधान के पुत्र व जुआड़ियों पर कोई कार्रवाई अमल में नहीं लायी जिससे अब ग्रामीण भी चुप्पी साधे हुये हैं।