बिहार के महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का निधन

बिहार की भूमि पर जन्म लेने वाले महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह ने आंइस्टीन के सापेक्ष सिद्धांत को चुनौती दी थी।आज गुरुवार को पटना में उनका निधन हो गया।


महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह


बिहार की भूमि पर जन्म लेने वाले महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह का आज सुबह पटना में निधन हो गया।40 साल से मानसिक बीमारी सिजोफ्रेनिया से पीड़ित वशिष्ठ नारायण सिंह पिछले काफी दिनों से बीमार चल रहे थे। वह 74 साल के थे।वह कुल्हरिया काम्पलेक्स में अपने परिवार के साथ रहते थे ले कुछ दिनों से वह बीमार थे और तबीयत खराब होने के बाद परिजन उन्हें पीएमसीएच लेकर गए, लेकिन आज सुबह डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।स खबर से पूरा बिहार गमगीन है।


उनके बारे में मशहूर है कि नासा में अपोलो की लांचिंग से पहले जब 31 कंप्यूटर कुछ समय के लिए बंद हो गए तो कंप्यूटर ठीक होने पर उनका और कंप्यूटर्स का कैलकुलेशन एक था।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ साथ पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने भी ने उनके निधन पर शोक जताया है।मांझी ने कहा कि वशिष्ठ नारायण सिंह के निधन से समाज को अपूर्णीय क्षति पहुंची है। जब वशिष्ठ नारायण बीमार थे तो सीएम नीतीश कुमार समेत कोई भी राज्य सरकार का बड़ा मंत्री उन्हें देखने नहीं गया था। वहीं प्रकाश झा ने फिल्म बनाने की घोषणा कर रखी थी। आरा के बसंतपुर के रहने वाले वशिष्ठ नारायण सिंह बचपन से ही होनहार थे।